Sunday, May 26, 2024
HomeStoriesBiographyइस छोटी सी वजह के कारण रतन टाटा ने आज तक नहीं...

इस छोटी सी वजह के कारण रतन टाटा ने आज तक नहीं की शादी | Love Story Of Ratan Tata | Ratan Tata Marriage

टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा ने सुनाई अपनी Love Story, कहा- मैरिज होने ही वाली थी परंतु फिर……… इस वजह से Ratan Tata Marriage नहीं किए। दोस्तों अब आपको यह तो पता लग ही गया होगा की Ratan Tata Married है कि नहीं अब जानते है इनकी अधूरी प्रेम कहानी की पूरी वजह।

Love Story Of Ratan Tataअपने सिंपल नेचर एवं व्यक्तित्व के कारण हमेशा चर्चा में बने रहने वाले Tata Group के चेयरमैन रतन टाटा ने आज तक मैरिज नहीं की। रतन टाटा का कहना यह है कि, जब वह जॉब करते थे तब एक अच्छी लड़की को दिल में बसा भी चुके थे मगर उनका प्रेम शादी तक नहीं पहुँच पाया एवं इससे पूर्व ही हम दोनों एक दूसरे से अलग हो गए। जानिए क्या थी उनके अलग होने की वजह, क्यों Ratan Tata Marriage नहीं किए

कब और कहाँ हुआ रतन टाटा को प्यार | How did Ratan Tata fall in love

एक इंटरव्यूह के वक्त अपनी लव स्टोरी के संबंध में पर्दाफाश करते हुए रतन टाटा ने बोला था कि, “मुझे लॉस एंजेलिस में जॉब करने के समय प्रेम हो गया था एवं मैरिज तक होने वाली थी। मगर मैंने उसी क्षण अस्थायी रूप से इंडिया लौटने का निर्णय किया था क्योंकि इस समय के दौरान मेरी दादी की तबीयत सही नही थी एवं मैं उनसे करीब 7 वर्षों से दूर था। इस स्थिति में, मैं स्वयं की दादी से मिलने के लिए इंडिया आया एवं सोचा कि जिससे मैं मैरिज करना चाहता हूं वह भी मेरे साथ इंडिया आएगी। मगर इसी वक्त 1962 के भारत-चीन युद्ध की वजह से मेरे मां-बाप शादी के लिए नहीं माने एवं हमारा रिलेशन खत्म हो गया।”

इस तरह बीता रतन टाटा का बचपन | Ratan Tata’s childhood passed in this way

रतन टाटा ने जानकारी दी कि, जब उनकी आयु महज 10 वर्ष की थी तभी उनके फादर नवल टाटा एवं माता सोनी टाटा एक-दूसरे से अलग हो गए थे, इस स्थिति में उन्हें कई कठिनाइयों को फेस करना पड़ा था। रतन टाटा ने स्वयं के वर्ड्स में बोला कि, “मेरा बचपन खुशहाल था मगर जैसे-जैसे मैं और मेरा भाई बड़े होते गए हमें अपने माता-पिता की डिवोर्स की वजह से रैगिंग एवं व्यक्तिगत समस्याओं को फेस करना पड़ा जो उन दिनों में उतना साधारण नहीं था जितना कि आज है।

दादी को मानते है अपना आदर्श | Ratan Tata’s grandmother is his Idol

रतन टाटा ने जानकारी दी कि, वह अपनी ग्रैंड मदर के काफी करीब थे एवं अपनी ग्रैंड मदर से काफी प्रेम करते थे। उनकी ग्रैंड मदर ने ही उन्हें जिन्दगी जीना सिखाया। रतन टाटा ने जानकारी दी कि, “जब मेरी माता जी ने पुनः मैरिज की थी, उस वक्त हमें विद्यालय के कई लड़के अलग-अलग तरह की बातें बोलते थे जिसके कारण हम काफी परेशान हो जाते थे। इस स्थिति में हमारी दादी माँ ने ही हमें हर क़ीमत पर प्रतिष्ठा बनाए रखना सिखाया।

आगे उन्होंने जानकारी दी कि, “मुझे अभी भी ध्यान है कि किस प्रकार सेकंड वर्ल्ड वॉर के उपरांत वह मुझे और मेरे भाई को समर वेकेशन के लिए लंदन लेकर चली गई थी। मेरी ग्रैंड मदर ही है जिन्होंने हमारे अंदर अच्छे संस्कार डाले। वह हमें कहती थी कि ऐसा ना करो, इस संदर्भ में शांत रहो। उन्होंने हमारे अन्दर इस प्रकार के संस्कार डालें है कि हमें आज भी लगता है कि इज्जत सबसे ऊपर है।

पिता को लेकर रतन टाटा ने कहे ये शब्द | Ratan Tata’s thoughts about his Father

वहीं अपने पिता जी को लेकर रतन टाटा का कहना यह है कि, “मेरे पिता के एवं मेरे मनोभाव काफी अलग अलग थे। जब मैं वायलिन बजाना सीखना चाहता था तो मेरे पिता जी चाहते थे कि मैं पियानो बजाना सीखूं। जब मैं America के कॉलेज में पढ़ने जाना चाहता था तो मेरे पापा चाहते थे कि मैं पढ़ने के लिए लंदन जाऊं। जब मैं एक Architect बनना चाहता था तो मेरे पिता जी चाहते थे कि मैं Engineer बनूं।”

हालांकि रतन टाटा ने स्टडी के लिए America की Cornell University चुनी एवं इसमें उनकी ग्रैंड मदर ने उनका अच्छी तरह से साथ दिया। बताया जाता है कि, अमेरिका में पढ़ाई करने के दौरान रतन टाटा के फादर ने उनसे बहुत दिनों तक बात तक नहीं की एवं वह बहुत नाराज रहे थे। पढ़ाई पूरी करने के उपरांत रतन टाटा लॉस एंजेलिस में जॉब करने लगे थे एवं वहां उन्होंने करीब 2 वर्ष तक जॉब की।

इस तरह खत्म हो गया रतन टाटा का रिश्ता | Why Ratan Tata’s relationship ended

आगे रतन टाटा ने जानकारी दी कि, “नौकरी करने के दौरान उन्हें लॉस एंजेलिस में एक गर्ल से लव हो गया एवं वह उससे मैरिज करने ही वाले थे, मगर दादी की तबीयत खराब होने के चलते वह अकस्मात ही इंडिया आ गए। वहीं दूसरी ओर मां-बाप भी 1962 की इंडिया चीन लड़ाई के चलते उस गर्ल को इंडिया बुलाने के पक्ष में नहीं थे, इस स्थिति में हम लोगों का रिश्ता खत्म हो गया।” इसलिए फिर Ratan Tata Marriage नहीं किए।

गौर देने योग्य है कि, रतन टाटा के हाथ में एक दफा फिर एयर इण्डिया की कमान आ चुकी है। कुछ दिनों पहले सर्वाधिक बोली लगाकर रतन टाटा ने एयर इण्डिया को हासिल कर लिया। Report की माने तो इस एयरलाइंस के लिए रतन टाटा ने करीब 18,000 करोड़ रुपए की बोली लगा कर हासिल किया है। बता दें, 68 वर्ष के उपरांत एक दफा फिर एयर इण्डिया टाटा ग्रुप के पास आई है जिसके कारण रतन टाटा बहुत खुश हैं एवं इसको लेकर उन्होंने एक फोटो भी शेयर की थी। इस फोटो को शेयर करते हैं उन्होंने कैप्शन में लिखा कि, “वेलकम बैक होम…”

बता दें, रतन टाटा सोशल साइट्स पर भी बहुत सक्रिय रहते हैं एवं वह सामान्यत: रोचक पोस्ट शेयर करते रहते हैं। लोग उनकी Posts को बहुत पसंद करते हैं। व्यक्ति रतन टाटा से इतने ज्यादा प्रभावित है कि, वे उन्हें भारतरत्न देने की माँग भी उठा चुके हैं। दोस्तों अगर आप भी उनके जीवन की इस घटना से काफ़ी प्रभावित है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular