Thursday, May 23, 2024
HomeHealthcareHair Careबालों के लिए आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic hair treatments In Hindi

बालों के लिए आयुर्वेदिक उपाय – Ayurvedic hair treatments In Hindi

बालों का रूखापन, बालों का झड़ना एक सामान्य समस्या है जो ज्यादातर लोगों में होती है। अगर आप इससे छुटकारा पाना चाहते है तो बालों के लिए Ayurvedic Hair Treatments ले सकते है। बालों के लिए आयुर्वेदिक उपाय, बालों की सभी समस्याओं के लिए एक स्थायी समाधान है। आयुर्वेद में बालों की समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक दवा, आयुर्वेदिक तेल, आयुर्वेदिक शैम्पू, तथा अन्य कई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के माध्यम से उपचार किया जाता है।

Ayurvedic Hair Treatments for hair growth in hindi

Table Of Content

बालों के लिए आयुर्वेदिक उपाय – Ayurvedic Hair Treatments For Hair Growth In Hindi

आयुर्वेद में बालों को झड़ने से रोकने के लिए कई तरीके हैं। आप ब्राह्मी, आमला, शिकाकाई, भृंगराज, नीम, मेथी, जटामांसी तथा अन्य आयुर्वेदिक चीजों का उपयोग कर सकते हैं। इन उपायों से बालों को झड़ने से रोकने में मदद मिलने के साथ-साथ बालों की मजबूती भी बढ़ती है। नीचे कुछ आयुर्वेदिक उपचार दिए गए हैं जो बालों का झड़ना कम करने में मदद कर सकते है।

बालों के लिए आयुर्वेदिक जूस – Best Ayurvedic Juice For Hair Growth

आंवला जूस – Amla Juice For Hair Growth

आंवला बालों के स्वस्थ विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट्स और जरूरी मिनरल्स होते हैं जो बालों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। आप आंवला को जूस या कैप्सूल के रूप में ले सकते हैं। आप इसे खा भी ले सकते हैं साथ ही इसके तेल से बालों की मालिश कर सकते हैं।

एलोवेरा जूस – Aloe Vera For Hair Growth

एलोवेरा का तना प्रोटियोलिटिक एंजाइम युक्त होता है। ये एंजाइम्स हेयर रूट्स को रिपेयर करने एवं स्किन सेल्स को हेल्दी बनाने में हेल्पफुल होते हैं। आप इसे घर में आसानी से बना सकती है। ऐलोवेरा जूस बनाने के लिए ऐलोवेरा के गूदे के साथ अपनी पसंद के फल के गूदे को मिक्स करके मिक्सी से जूस बना लें। अगर ज़रूरी लगे तो आप इसमें पानी और शहद भी मिला सकती हैं। आप चाहें तो बने बनाए एलोवेरा जूस को यहाँ से खरीद सकती हैं। खरीदने के लिए Click Here

गाजर का जूस – Carrot Juice For Hair Growth

बालों को घना और मजबूत बनाने के लिए गाजर का जूस बहुत लाभदायक होता है, इसमें विटामिन A भरपूर मात्रा में मिलता है जो हेयर ग्रोथ में अहम भूमिका निभाता है इसमें उपलब्ध पौष्टिक तत्व स्कैल्प (scalp) को हेल्दी रखते है। जिससे बालों को अंदर से मज़बूती मिलती है।

बालों के लिए आयुर्वेदिक तेल – Ayurvedic Hair Growth Oil

भृंगराज तेल –

भृंगराज एक जड़ी बूटी है जो बालों के झड़ने को कम करने में मदद करती है। इसे तेल के रूप में लगाकर मालिश करने से बालों के झड़ने को कम किया जा सकता है। इसलिए अगर आपके भी बाल गिर रहे है तो आप बालों की मसाज करने के लिए भृंगराज के तेल का उपयोग कर सकते।

त्रिफला का तेल –

त्रिफला तेल एक प्रकार का आयुर्वेदिक तेल है, जो त्रिफला का उपयोग करके बनाया जाता है। त्रिफला में आंवला, हरड़ और बहेरा तीनों घटक होते हैं। यह तेल त्वचा, बालों और शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है। इस तेल का उपयोग सूखी स्कैल्प के लिए किया जाता है। स्कैल्प की खुश्की को कम करने में मदद करता है। जिससे बालों को मजबूत बनाने और उन्हें झड़ने से रोकने में मदद मिलती है। 

नारियल का तेल

नारियल तेल बालों को मजबूत बनाने में मदद करता है। जिससे बालों को झड़ने से रोकने में मदद मिलती है। नारियल तेल से अपने बालों को मालिश करने से पहले थोड़ा गर्म कर लेना चाहिए, जिससे यह बालों की जड़ों में अच्छे से लग जाए।

जटामांसी का तेल

जटामांसी बालों के स्वस्थ विकास के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इसे आप तेल के रूप में प्रयोग कर सकते है। इससे आप नियमित रूप से अपने सिर की मसाज कर सकते है।

जैतून का तेल –

जैतून का तेल बालों को गिरने से रोकने में बहुत मददगार होता है। इससे अपने सिर की मालिश करें और रात भर लगे रहने दें तथा सुबह उठकर इसे धो लें।

ब्राह्मी का तेल –

ब्राह्मी का तेल एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक तेल है, यह तेल ब्राह्मी के पत्तों में मौजूद विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है। जो बालों को मजबूत बनाने और उन्हें झड़ने से रोकने में मदद करते है। चमकदार और स्वस्थ बालों के लिए इस तेल का उपयोग नियमित रूप से किया जाना चाहिए।

आंवला तेल –

आंवला बालों के स्वस्थ विकास के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट्स और बालों के लिए जरूरी मिनरल्स होते हैं इसके तेल से आप बालों की नियमित मालिश कर सकते हैं।

ब्राह्मी आंवला केश तेल –

इस तेल में ब्राह्मी और आमला के तत्व होते हैं जो बालों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इसे बालों में लगाकर मालिश करने से बालों को सुंदर मुलायम और चमकदार बनाया जा सकता है। खरीदने के लिए नीचे image पर click करें।

बालों के लिए आयुर्वेदिक मास्क – Ayurvedic Hair Mask For Hair Growth

यहाँ हमने बालों के लिए कुछ अच्छे आयुर्वेदिक मास्क के बारे में बताया है जिनको आप बालों को पोषण देने के लिए प्रयोग कर सकते है

एलोवेरा मास्क – Aloe Vera Mask For Hair Growth

आप जानते है एलोवेरा बालों के झड़ने को रोकने में बहुत मददगार होता है। एलोवेरा का न सिर्फ जूस बल्कि यदि आप एलोवेरा के ताजे पत्तों के रस को निकालकर अपने बालों पर लगा लें तो यह आपके बालों को मजबूत और चमकदार बनाने में काफ़ी मदद करेगा। यहाँ नीचे 2 बेस्ट एलोवेरा हेयर मास्क दिए है। आप उन्हें ख़रीद सकते है

Himalayan Organic Hair Mask , PURE ELEMENTS Intensive Repair Hair Mask

मेथी पाउडर – Methi Powder Mask For Hair

मेथी बालों के गिरने को रोकने और बालों के स्वस्थ विकास के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इसे आप पाउडर के रूप में प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए मेथी दानों को पीसकर बालों में हेयर मास्क की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

तुलसी का रस – Tulsi For Hair Growth

तुलसी बालों को झड़ने से रोकने में मदद करती है। आप तुलसी की पत्तियों को पानी में उबालकर इस पानी को अच्छी तरह से ठंडा कर लें फिर इस पानी को अपने बालों पर लगाएं और 30 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। फिर शैम्पू कर लें।

खीरा – Cucumber Mask For Hair

बालों के झड़ने को रोकने के लिए खीरा एक अच्छा उपाय है। आप खीरे को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर उसे अपने बालों में रगड़ सकते हैं। इन्हें 30 मिनट तक लगाएं रखे और फिर धो लें। इससे आपकी स्कैल्प को आराम मिलता है और आपके  बाल मजबूत, चमकदार और घने बनते है।

अलसी पाउडर – Alsi Powder For Hair Growth

अलसी बालों को मजबूत बनाता है और उन्हें झड़ने से बचाता है। इसे पाउडर के रूप में प्रयोग किया जाता है और इसे बालों में मिलाकर मालिश कर सकते हैं। इसे 30 मिनट तक लगाएं और फिर शैम्पू से सिर को धुल लें।

आलू का रस – Potato Juice For Hair

आलू का रस बालों के झड़ने को रोकता है। आप एक आलू को धोकर उसे मिक्सी में डालकर पीस लें। अब इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर मिलाएं। इसे बालों पर लगाएं और एक घंटे तक छोड़ दें। फिर शैम्पू कर लें। इससे आपके बालों के गिरने की समस्या में राहत मिलती है।

बालों के लिए आयुर्वेदिक शैम्पू – Ayurvedic Shampoo For Hair Growth

यहाँ आपके लिए ऐसे आयुर्वेदिक शैम्पू प्रोडक्ट के नाम दिए गए हैं जिन्हें आप अपनी रूटीन में प्रयोग कर सकते हैं

खादी नेचुरल आयुर्वेदिक अमला और भृंगराज हेयर क्लींजर –

यह शैम्पू अमला, भृंगराज और शिकाकाई जैसे प्राकृतिक तत्वों से बना होता है, जो बालों की गिरने से रोकने और उन्हें उगाने में मदद करते हैं। यह हेना भी शामिल होता है, जो बालों को चमकदार बनाने में मदद करता है। शैम्पू के फोटो Click करके खरीदें

फॉरेस्ट एसेंशियल्स हेयर क्लींसर भृंगराज और शिकाकाई –

यह शैम्पू भृंगराज, शिकाकाई और रीठा से भरपूर होता है, जो स्कैल्प को पोषण प्रदान करता हैं और बालों को उगाने में भी मदद करता हैं। ये बालों को मजबूत बनाने और बाल झड़ने से रोकने में मदद करता है।

कामा आयुर्वेदा रोज एंड जैस्मीन हेयर क्लींजर –

यह शैम्पू एलोवेरा, हिबिस्कस, सोया और प्रोटीन जैसे प्राकृतिक तत्वों से भरपूर होता है, जो बालों को मजबूत बनाने और पोषण प्रदान करने में मदद करते हैं। यह गुलाब और जैस्मीन भी शामिल होता है, जो बालों को चमकदार बनाने और सुगंधित करने में मदद करते हैं।

हिमालया हर्बल एंटी-हेयर फॉल शैम्पू –

यह शैम्पू भृंगराज, चना, दाल और आमला जैसे प्राकृतिक तत्वों से बना होता है, जो बालों को मजबूत बनाने और झड़ने से रोकने में मदद करते हैं। इसमें मेथी और हेना भी होता है, जो बालों को कंडीशन करने और पोषण प्रदान करने में मदद करते है।

शिकाकाई पाउडर –

शिकाकाई बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है इसका प्रयोग मुख्यतया बालों को धुलने के लिए आयुर्वेदिक शैम्पू बनाने में किया जाता है। शिकाकाई आपके बालों को मजबूत और स्वस्थ बनाने में मदद करता है। आप शिकाकाई के पाउडर को अपने बालों पर लगा सकते हैं अथवा बालों को धुलने के लिए शैम्पू की जगह  भी आप इसका प्रयोग कर सकते हैं।

बालों के लिए आयुर्वेदिक रंग – Ayurvedic Hair Colour Products For White Hair

हेना – Henna For White Hair

हेना एक प्राकृतिक रंग होता है जो बालों को कलर करता है और उन्हें मजबूत बनाता है। इसे पाउडर के रूप में मिलाकर बनाएं और उसे बालों पर लगाएं। हेना को ऑनलाइन ख़रीदने के लिए नीचे image पर क्लिक करें।

मेहंदी – Mehndi Powder For White Hair

मेहंदी बालों को रंगने के लिए एक बेस्ट नेचुरल कलर है ये बालों के लिए एक नैचुरल कंडीशनर की भूमिका भी निभाती है। मेहंदी को बालों में लगाने से उन्हें गहरा भूरा या लाल रंग मिलता है। इसको आप पिसे हुए पाउडर के रूप में मार्केट से ख़रीद सकते है या फिर मेहंदी के पेड़ से पत्तियों को तोड़कर उनका पेस्ट बनाकर भी बालों में लगा सकते है।

इंडिगो पाउडर – Indigo Powder For White hair

इंडिगो पाउडर बालों के लिए एक अच्छा आयुर्वेदिक हेयर कलर है जो बालों को काला या गहरा भूरा रंग देता है। यह रंग बालों को सुंदर बनाता है और उन्हें मजबूती भी देता है। नीचे image पर click करके खरीदें

Ayurvedic Hair Treatments FAQ’s

क्या आयुर्वेद बाल दोबारा उगा सकता है?

“आयुर्वेद” उपचार आपके बालों को स्वाभाविक रूप से विकसित करने का सबसे अच्छा और प्रभावी तरीका है। आयुर्वेद में बतायी गई ब्राह्मी बालों के विकास और बालों को दोबारा उगाने के लिए एक अद्भुत जड़ी बूटी है। नारियल के तेल में ब्राह्मी की पत्तियों को उबालकर बनाए गए तेल की मालिश के द्वारा दोबारा बाल उगाए जा सकते है। इसके अतिरिक्त बालों में समस्या के अनुसार पौष्टिक आहार खाने से भी दोबारा बाल उगाए जा सकते है और पुराने बालों की वृद्धि तेज होती है।

आयुर्वेद के अनुसार बालों को स्वस्थ कैसे रखें?

आयुर्वेद के अनुसार आपको बालों को स्वस्थ रखने के लिए आपको आयुर्वेद द्वारा बताई गई निम्न चीजों का ही प्रयोग बालों में करना चाहिए।

बालों के लिए आयुर्वेदिक जूस – आमला, एलोवेरा, गाजर का जूस
बालों के लिए आयुर्वेदिक तेल – भृंगराज, नारियल, ज़ैतून, आमला, ब्राह्मी का तेल
बालों के लिए आयुर्वेदिक मास्क – एलोवेरा, मेथी, अलसी, खीरा का मास्क
बालों के लिए आयुर्वेदिक शैम्पू – एलोवेरा, भृंगराज, रीठा, शिकाकाई से बने शैम्पू
बालों के लिए आयुर्वेदिक रंग – हेना, मेहंदी, इंडिगो पाउडर

इन सभी चीजों के प्रयोग से बालों का झड़ना कम होगा और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद मिलेगी।

आयुर्वेद के अनुसार हमें बाल कितनी बार धोना चाहिए?

आयुर्वेद के अनुसार यह कहा जाता है कि बालों को सप्ताह में दो बार धोना चाहिए। बालों को इससे अधिक धोने से स्कैल्प में पाया जाने वाला प्राकृतिक तेल खत्म हो जाता है जिससे बालों का विकास रुक जाता है और बालों के गिरने की समस्या शुरू हो जाती है।

आयुर्वेद के अनुसार बिना शैंपू के बाल कैसे धोएं?

बालों को धोने के लिए आप आयुर्वेद में बतायी गई कुछ चीजों जैसे- रीठा, शिकाकाई, भृंगराज आदि का प्रयोग कर सकते है या फिर आप इन आयुर्वेदिक चीजों से बने हुए प्रोडक्ट्स का प्रयोग भी कर सकते है। जो कि बाज़ार में आसानी से मिल जाते है।

क्या हमें आयुर्वेद के अनुसार रोजाना बाल धोना चाहिए?

आयुर्वेद के अनुसार, बालों को रोजाना धोने से बालों की प्राकृतिक तरलता को हानि पहुंचती है। इसलिए यदि आपके बाल वात प्रकार के हैं तो आपको अपने बालों को हर तीन या चार दिनों में अर्थात हफ्ते में अधिकतम दो बार धोना चाहिए परंतु यदि आपकी स्कैल्प और आपके बाल काफी रूखे हैं, तो आपको अपने बालों को सप्ताह में सिर्फ एक बार ही धोना चाहिए।

क्या आयुर्वेद बाल वापस ला सकता है?

हाँ, आयुर्वेद बालों को वापस ला सकता है। इसके लिए आपको बालों को अंदर से पोषण देने के साथ साथ आयुर्वेद द्वारा बताए गए विभिन्न उपाय करने की आवश्यकता होती है। आयुर्वेद में शामिल उपाय जैसे सिर की रोज मालिश, जड़ी बूटियों, हर्बल हेयर क्लींसर (शिकाकाई, एलोवेरा, गुड़हल के पत्ते, आंवला) जैसी चीजों का रोज की जिंदगी में प्रयोग करके आप बालों को दोबारा वापस ला सकते है। यह उपाय बालों की वृद्धि में भी मदद करते है।

क्या हम आयुर्वेदिक शैंपू का इस्तेमाल रोज कर सकते हैं?

आयुर्वेदिक शैम्पू हानिकारक रसायनों से मुक्त होते हैं, इसलिए आप इनका इस्तेमाल माइल्ड शैम्पू के रूप में रोज भी कर सकते हैं। ऑर्गेनिक चीजों से बने होने के कारण इनका नियमित प्रयोग आपके बालों को साफ, मुलायम और चमकदार बनाता है। यह आपके बालों के विकास को बढ़ावा देते है और आपके बालों का झड़ना भी रोकते है।

क्या आयुर्वेद आनुवंशिक बालों के झड़ने का इलाज कर सकता है?

हां, आयुर्वेद आनुवंशिक रूप से झड़ रहे बालों के झड़ने का इलाज कर सकता है। आयुर्वेद अनुवांशिक रूप से झड़ रहे बालों के झड़ने की प्रक्रिया को धीमा करके बालों के झड़ने को रोक सकता। आप आयुर्वेद में बतायी गई जड़ी बूटियों के साथ-साथ, आयुर्वेदिक जीवन शैली तथा संतुलित आहार को शामिल करके, Genetic Hair Loss का उपचार कर सकते हैं।

बालों के लिए आयुर्वेदिक तेल कौन कौन से है?

1. भृंगराज का तेल
2. त्रिफला का तेल
3. नारियल का तेल
3. ब्राह्मी का तेल
4. आंवला तेल
5. जैतून का तेल
6. जटामांसी का तेल
7. ब्राह्मी आंवला केश तेल

ये सभी बालों को गिरने से रोकने तथा उनकी लम्बाई को बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक तेल है।

Affiliate Disclosure: इस पोस्ट में दिए गए प्रोडक्ट्स में से कुछ के लिंक एफ़िलिएट लिंक हो सकते हैं। इसका मतलब है कि यदि आप इन लिंक पर क्लिक करके उस प्रोडक्ट को खरीदते हैं, तो इसके लिए मुझे कुछ कमीशन मिलता है परंतु इसके लिए आपको प्रोडक्ट की क़ीमत के अतिरिक्त कुछ और खर्च नहीं करना होगा। Affiliate Marketing के बारे में ज्यादा जानने के लिए क्लिक करें Click Here

तो दोस्तों अब आपको Ayurvedic Hair Treatments की पूरी जानकारी हो गयी होगी, और आपको पता लगा गया होगा की बालों के लिए आयुर्वेदिक उपायों में आपको मुख्य रूप से आयुर्वेदिक तेल, दवा, मास्क और आयुर्वेदिक शैम्पू की आवश्यकता पड़ती है। इन सभी चीजों का अपनी नियमित दिनचर्या में प्रयोग करके आप मज़बूत और घने बाल प्राप्त कर सकते है तथा बालों से जुड़ी सभी समस्याओं से मुक्ति पा सकते है। इसलिए अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

अस्वीकरण: यह पोस्ट केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें। Hindustan Support Website इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular