Tuesday, May 21, 2024
HomeBusinessएफिलिएट मार्केटिंग क्या है, कैसे करें शुरू, क्या है इसके फायदे -...

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है, कैसे करें शुरू, क्या है इसके फायदे – affiliate marketing in hindi

Affiliate Marketing In Hindi – एफिलिएट मार्केटिंग ऑनलाइन रुपए कमाने का सबसे अच्छा तरीका है, जिसके जरिए आप महीने में लाखों रूपये सरलता से कमा सकते हैं। पर Affiliate Marketing करने के लिए यह मालूम होना जरुरी है कि Affiliate Marketing kya hai तथा सही तरह से Affiliate Marketing कैसे शुरू करें।

अगर आप जानना चाहते है कि एफिलिएट मार्केटिंग क्या होती है, तथा एफिलिएट मार्केटिंग कैसे शुरू करें या फिर आपके मन में प्रश्न है कि एफिलिएट मार्केटिंग कैसे सीखें तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हैं। इस आर्टिकल में हमने आपको बताया है कि एफिलिएट मार्केटिंग क्या है, एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करती है, एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे और नुकसान क्या है। हमें पूरा विश्वास है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के पश्चात आप एफिलिएट मार्केटिंग करना अवश्य सीख जायेंगे।

Affiliate Marketing In Hindi

तो चलिए स्टार्ट करते हैं आज का यह आर्टिकल और जानते हैं ।

  • एफिलिएट मार्केटिंग क्या होती है – Affiliate Marketing Meaning In Hindi
  • एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करती है – How Affiliate Marketing Works
  • एफिलिएट मार्केटिंग से संबंधित शब्द और उनका अर्थ।
  • Popular Affiliate Marketing Websites कौन कौन सी है?
  • एफिलिएट मार्केटिंग कैसे ज्वाइन करें – How To Join Affiliate Marketing Programs In Hindi
  • एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे – Benefits Of Affiliate Marketing In Hindi
  • Affiliate Marketing और Network Marketing में अंतर।
  • एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंधित FAQ’s (Frequently Asked Questions)

तो चलिए एक-एक कर इन सभी को विस्तारपूर्वक समझते हैं।

Table Of Content

एफिलिएट मार्केटिंग इन हिंदी – Affiliate Marketing In Hindi

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है – Affiliate Marketing Meaning In Hindi

एफिलिएट मार्केटिंग, मार्केटिंग का एक इस प्रकार का तरीका है, जिसमे कोई Person अपने किसी सोर्स, जैसे कि वेबसाइट अथवा ब्लॉग के जरिए, किसी और कम्पनी या ऑर्गेनाइजेशन के प्रोडक्ट्स को Promote करता है अथवा recommend करता है। इसके एवज में वह कंपनी या ऑर्गेनाइजेशन उस Person को कुछ कमीशन देती है। अलग अलग प्रोडक्ट्स के मुताबिक अलग-अलग कमीशन होता है। यह कमीशन या तो Sale का कुछ प्रतिशत हो सकता है या फिर कोई फिक्स्ड अमाउंट। यह प्रोडक्ट्स कुछ भी हो सकते हैं, वेब होस्टिंग से लेकर कपड़ों या इलेक्ट्रॉनिक्स तक।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करती है – How Affiliate Marketing Works In Hindi

यदि हम लोग एफिलिएट मार्केटिंग के संबंध में बात करेंं कि Affiliate Marketing कैसे काम करती है तो आप लोगों को बता दें, एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए सर्वप्रथम आपको किसी बड़ी E-Commerce Website या फिर कोई इस प्रकार की इंटरनेट साइट जो कि प्रोडक्ट को बेचने के बदले आप लोगों को कुछ कमीशन देती हो तो इस प्रकार की Website पर जाकर आप लोगों को अपना एफिलिएट अकाउंट बनाना पड़ता है। जब आप इस प्रकार की किसी इंटरनेट साइट पर अपना Affiliate Account Create कर लेते है तब यह आप लोगों को सेल करने के लिए कुछ प्रोडक्ट्स दे देती हैं

यहाँ पर आप लोगों को भिन्न-भिन्न कैटेगरी के प्रोडक्ट्स मिल जाते हैं। आप जिस भी तरह के Products को Sell करना चाहते हैं आप उनको चुन सकते है। जब आप किसी भी प्रोडक्ट को चुनते है तो आप लोगों को उस प्रोडक्ट का एक Affiliate Link प्राप्त होता है। जिसको आप अपनी वेब साइट या अपने किसी भी सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर कर सकते है। जब इस लिंक के द्वारा कोई व्यक्ति आपके द्वारा शेयर किए गये प्रोडक्ट को खरीदता है तो उसके बदले में ये Affiliate Websites आप लोगों को कुछ कमीशन देती है। जो आपकी Affiliate Income कहलाती है। इसके द्वारा आप महीने में लाखों रुपए कमा सकते है। 

एफिलिएट मार्केटिंग से संबंधित शब्द और उनके अर्थ

Affiliate Marketing को सही से समझने के लिए आपको एफिलिएट मार्केटिंग से संबंधित इन परिभाषाओं का पता होना बहुत ज़रूरी है अतः पहले हम इनको समझ लेते है।

Affiliates: Affiliates उन व्यक्तियों को कहते है जो किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट के Affiliate Program को जॉइन करके, उस वेबसाइट के प्रोडक्ट्स को अपने Blog अथवा Website पर प्रमोट करके उनको सेल करते हैं।

Affiliate Marketplace: इस प्रकार की Affiliate Websites जो अलग अलग Categories में Affiliate Programs चलाती हैं, उन्हें एफिलिएट मार्केटप्लेस कहते है।

Affiliate ID: Affiliate Programs के जरिए अकाउंट बनाते समय हर Affiliate को एक यूनिक आईडी उपलब्ध कराई जाती है, जो Sale के सम्बंध में सूचनाएं जुटाने में सहायता करती है, Affiliate ID कहलाती है।

Affiliate Link: हर Affiliate को भिन्न-भिन्न प्रोडक्ट्स को सेल करके कमीशन प्राप्त करने के लिए प्रोडक्ट्स से जुड़े कुछ विशेष Links उपलब्ध कराए जाते हैं, जिन पर क्लिक करके विजिटर्स प्रोडक्ट को पर्चेस कर सकते है। इन Links को हर Affiliate के लिए Unique रखा जाता है इन Unique Affiliate Links के जरिए ही Affiliate Websites  आपके लिंक्स द्वारा प्राप्त Sells को ट्रैक कर पाती है। और आपको कमीशन दे पाती है।

Commission: वह धनराशि, जो Affiliate को प्रत्येक Sale पर प्रदान की जाती है। कमीशन कहलाती है। यह सेल से प्राप्त धनराशि का कुछ प्रतिशत हो सकता है अथवा पहले से निश्चित की गई कोई धनराशि भी हो सकता है।

Link Clocking: अधिकतर Affiliate Links लम्बे और अजीब से लगते है। इस प्रकार के Links को URL Shortner Tools का उपयोग करके छोटा कर लिया जाता है। बड़े Affiliate Links को छोटा करने के इस प्रॉसेस को लिंक क्लाकिंग कहते है

Affiliate Manager: कुछ Affiliate Programs में Affiliates की सहायता के लिए तथा उन्हें सुझाव देने के लिए कुछ विशेष लोग नियुक्त किये जाते है, वे Affiliate Manager कहलाते हैं।

Payment Mode: इसका मतलब उस माध्यम से है जिसके जरिए Affiliate Websites आप को आपका commission देती है। अलग अलग Affiliate Websites अलग अलग Payment Mode Offer करती हैं। जैसे कि Cheque, Wire Transfer, PayPal इत्यादि।

Payment Threshold: वह न्यूनतम राशि (Minimum Earn Money) जिसको अर्न करने के बाद ही आप लोग, आपकी Payment को अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर पाते है। Payment Threshold कहलाती है। अलग अलग Affiliate Program की Payment Threshold भी अलग अलग होती है।

Popular Affiliate Marketing Websites कौन कौन सी है?

इंटरनेट पर वैसे तो अनेक Affiliate Marketing Companies मौजूद है मगर आज हम आपको केवल कुछ Popular और Best Companies के बारे मे ही बताएंगे जो कि आप लोगों को सबसे ज़्यादा कमीशन देती हैं।

किसी भी Affiliate Program को जॉइन करने से पूर्व आप को उस प्रोग्राम से संबंधित पूरी जानकारी पहले ही हासिल कर लेना चाहिए। अगर आप किसी कंपनी के Affiliate Program के बारे में जानना चाहते हैं तो आप किसी भी सर्च इंजन पर कंपनी के नाम के आगे Affiliate लिख कर Search कर सकते है। यदि उस कम्पनी का कोई Affiliate Program होगा तो वह आपको सर्च रिजल्ट्स में दिख जाएगा।

बेस्ट एफिलिएट मार्केटिंग साइट्स –

  • Amazon Affiliate
  • Snapdeal Affiliate
  • Clickbank
  • Commission Junction
  • eBay

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे ज्वाइन करें – How To Join Affiliate Marketing Programs In Hindi

यदि आप कोई भी एफिलिएट मार्केटिंग साइट को जॉइन करना चाह रहे हैं तब ये आप बहुत सरलता से कर सकते हैं। इसके लिए आप सभी को कुछ Steps को Follow करना होगा। जिनको फ़ॉलो करके आप सरलता से अपनी Affiliate Income स्टार्ट कर सकते हैं।

यहां नीचे आपको Amazon Affiliate कैसे जॉइन करें, के बारे में बताया गया है। सर्वप्रथम आप जिस भी कम्पनी का Affiliate Program जॉइन करना चाहते है तो आपको उसके Affiliate Page पर जाना है जैसे कि अगर आपको Amazon Affiliate Join करना है तो आप लोगों को वहाँ एक नया अकाउंट बनाना होगा जहाँ आपसे कुछ जरूरी जानकारी ली जाती है जैसे कि –

  • नाम (Name)
  • पता (Address)
  • ई-मेल (Email Id)
  • मोबाइल नंबर (Mobile Number)
  • पैन कार्ड (Pan Card Detail)
  • ब्लॉग या वेबसाइट यूआरएल, जहाँ आप कम्पनी के प्रोडक्ट प्रमोट करेंगे।
  • पेमेंट डिटेल (Payment Details), जहाँ आप चाहते हैं की आपकी सारी Affiliate Income भेजी जायगी।

यह सारी जानकारी सही से भरने के बाद जब आप Register हो जाते है तो कम्पनी आपके ब्लॉग को चेक करने के उपरांत, आप लोगों को Confirmation Mail भेजती है। अकाउंट कंफर्म होने के बाद जब आप लॉगिन करेंगे तो आपके सामने एक डैशबोर्ड आयेगा जहाँ पर आप लोगों को प्रोडक्ट्स को चूज करके उनके Affiliate Links को कॉपी कर लेना होता है। एवं उनको स्वयं के Blog, Websites अथवा Social Media Accounts पर शेयर करना होता है जहाँ से कस्टमर्स उस प्रोडक्ट को खरीदते है तथा आप उसके बदले में कमीशन प्राप्त करके आराम से रुपए कमा सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे – Benefits Of Affiliate Marketing In Hindi

1. आसान : एफिलिएट मार्केटिंग करना बहुत आसान होता है। इसे करने के लिए आपके पास किसी Skill का होना जरुरी नहीं है। बस आप जैसे इंस्टाग्राम और फेसबुक आदि पर पोस्ट शेयर करते है। ठीक वैसे ही आप लोगों को किसी उत्पाद को शेयर करना होता है एवं उसे सेल करना होता है।

2. साइड इनकम सोर्स : एफिलिएट मार्केटिंग करके आप स्वयं की साइड इनकम जेनरेट कर सकते है वो भी बगैर कुछ इन्वेस्टमेंट किये।

3. कोई फ़ीस नहीं : एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए कोई फ़ीस भी नहीं देनी पढ़ती है। आप किसी भी एफिलिएट साइट को मुफ्त में जॉइन कर सकते है। आपको सोशल साइट्स पर प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए सिर्फ थोड़ा टाइम देना पड़ता है।

4. समय की कोई पाबंदी नही : एफिलिएट मार्केटिंग को आप केवल पार्ट-टाइम ही नहीं अपितु फुल-टाइम करके भी बहुत अच्छी आमदनी कर सकते है और अगर आप इस कार्य में सफल हो रहे है तो आप इसे अपना मुख्य व्यवसाय भी बना सकते है।

5. भरपूर काम : ऐसी अनगिनत वेबसाइट (Affiliate websites) है, जैसे अमेज़न, फ्लिपकार्ट तथा स्नैपडील जिनके साथ कार्य करके आप लाखों रुपए कमा सकते है। मतलब आपको ऐसे प्रोग्राम की कमी नहीं है।

6. न कोई टारगेट न कोई बॉस : Affiliate Marketing की सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें आपका कोई बॉस नहीं होता एवं ना ही कोई टारगेट तो आप अपनी मर्जी के मुताबिक जितना चाहे उतना कमा सकते है।

Affiliate Marketing और Network Marketing में अंतर

अब आप में से ऐसे कई लोग होंगे जोकि एफिलिएट मार्केटिंग एवं नेटवर्क मार्केटिंग को एक ही तरह से देखते होंगे मगर Affiliate Marketing एवं Network Marketing में काफी अंतर है ये कभी एक जैसे हो ही नहीं सकते है हाँ दोनों का कार्य करने का तरीका जरूर थोड़ा-बहुत मिलता है तो चलिए देखते हैं कि एफिलिएट मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग में क्या अंतर है।

एफिलिएट मार्केटिंग में आपको प्रोडक्ट को बेचना होता है, यहाँ पर आप लोगों को एक Unique Affiliate Link प्राप्त होता है जिसके द्वारा आप उत्पाद को किसी भी पर्सन को Sell करके उसके बदले कमीशन प्राप्त कर सकते हैं और वहीं नेटवर्क मार्केटिंग की बात करेंं तो नेटवर्क मार्केटिंग में आप लोगों को टीम बनानी पड़ती है। नेटवर्क मार्केटिंग में जब तक आप किसी को अपनी टीम में नहीं जोड़ोगे। उस समय तक आपका रुपया नहीं बनेगा Network Marketing क्या है और नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें आप इसको गूगल पर सर्च करके पढ़ सकते है।

Affiliate Marketing FAQ’s In Hindi – एफिलिएट मार्केटिंग से अक्सर पूछें जाने वाले प्रश्न

Affiliate Marketing के संबंध में इतना सब जान लेने के उपरांत अब हम कुछ इस प्रकार के प्रश्नों के उत्तर जान लेते है जो अक्सर आपके दिमाग में Affiliate Marketing के बारे में आ सकते हैं।

क्या एक ही ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर Affiliate Marketing और Google Adsense दोनों को यूज किया जा सकता है?

जी हाँ, Affiliate Marketing और किसी भी Ad Network (जैसे- गूगल एडसेंस) को एक साथ यूज किया जा सकता है। बहुत से व्यक्तियों के लिए Affiliate Marketing Ad Networks की तुलना में, आमदनी का बढ़िया सोर्स है।

क्या Affiliate Marketing के लिए Website अथवा Blog का होना आवश्यक है?

जरूरी तो नहीं हैं, परन्तु फिर भी एफिलिएट मार्केटिंग से रुपए कमाने का सबसे अच्छा सोर्स, ब्लॉग अथवा इंटरनेट साइट ही है।

Affiliate Marketing से जुड़ने के लिए क्या कोई Special Affiliate Marketing Course करना पड़ता है?

जी नहीं, आप लोगों को बस इस के संबंध में कुछ चीजों की नॉलेज होनी आवश्यक है। यदि आपको English आती है, तो आप यह कम्प्लीट ई-बुक खरीद सकते है।

कौन-कौन सी Companies अथवा Organizations Affiliate Programs Offer करती है?

देखिए हर एक कंपनी अथवा सभी ऑर्गेनाइजेशन एफिलिएट प्रोग्राम ऑफर नहीं करती। आप लोगों को यह सर्च करके मालूम करना होता है कि कौन सी कंपनी या कौन सी ऑर्गेनाइजेशन यह Programs Offer करती है। बाकी कुछ Popular Affiliate Companies के बारे में हम ऊपर बता चुके है।

कैसे मालूम करेंं कि कौन कौन सी Companies अथवा Organizations Affiliate Programs Offer करती है?

गूगल सर्च किस वक्त काम आएगी, Simply उस कम्पनी का नाम ‘Affiliate’ Word के साथ जोड़कर सर्च करें। इस तरह से आप जान पाएंगे कि वह कम्पनी Affiliate Program Offer करती है कि नहीं। वैसे भी इंटरनेट पर ढेरों ब्लॉग्स हैं, जहां से आप पता लगा सकते है कि कौन सी Companies अथवा Organizations यह Program Offer करती है, इतना ही नहीं आप उनके बारें में Full Reviews भी पढ़ सकते हैं।

Affiliate Program कैसे Search करें

hindustansupport.com पर बहुत से Affiliate Program के संबंध में पोस्ट लिखी जाएगी, आप हमारे साथ जुड़कर उनको भविष्य में पढ़ सकते हैं।

Affiliate Marketing से कितने रुपए कमा सकते है?

यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है कि आप कितने विजिटर्स को अपने प्रोडक्ट की ओर आकर्षित कर पाएं हैं एवं आपको उनसे कितनी सेल प्राप्त हुई है। उसके अनुसार ही आप लोगों को कमीशन प्राप्त होगी।

इस आर्टिकल में हमने एफिलिएट मार्केटिंग क्या होती हिंदी में बताया था तथा साथ ही यह भी बताया था कि आप एफिलिएट मार्केटिंग कैसे शुरू करें, जिससे आपको सफलता मिलें। तो आशा करते हैं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हमें कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular