Tuesday, May 21, 2024
HomeReligionEid Special Dishes : इन व्यंजनों के बिना अधूरा है ईद का...

Eid Special Dishes : इन व्यंजनों के बिना अधूरा है ईद का त्यौहार, जरूर करें ट्राई

ईद का उत्सव कई वर्षों से दुनिया भर में मनाया जा रहा है। ईद मुस्लिमों के लिए एक बड़ा और विशेष त्योहार है। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, हर साल रमजान के महीने के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद मनाई जाती है। मुस्लिम समुदाय में ईद-उल-फितर अर्थात मीठी ईद का विशेष महत्व है क्योंकि इस दिन सभी मुस्लिम एक-दूसरे के गले लगते है तथा इस दिन घर के बड़े लोग, छोटे लोगों को उपहार देते हैं, जिसे ईदी के नाम से जाना जाता है और सभी मुस्लिम घरों में ईद के दिन विभिन्न प्रकार के पकवान बनाए जाते हैं। जिनमे कुछ Eid Special Dishes के बारे में हमने इस आर्टिकल में बताया है।

ईद पर बनने वाले पकवान – Eid Special Dishes

ईद पर खाने के लिए हर घर में विभिन्न प्रकार की चीजें बनाई जाती हैं, परंतु कुछ पकवान ऐसे हैं जो ईद के दिन न बनें तो त्यौहार का मजा अधूरा रह जाता है। ईद के दिन इन चीजों के बनने से इस विशेष दिन का आनंद और भी अधिक बढ़ जाता है। तो जान लेते है कि ये Eid Special Dishes क्या है।

1. शीरमाल

देश-विदेश में कई प्रकार की ब्रेड्स बनायी एवं खाई जाती हैं। हमारी रोटी, नान एवं पराठा भी ब्रेड की ही भिन्न-भिन्न किस्में हैं। इस प्रकार की ही एक किस्म की रोटी है शीरमाल। ये आम रोटियों की तुलना में बहुत हेवी होती है क्योंकि इसमें मुख्यतया दूध और घी का प्रयोग होता है। इस रोटी को मुख्यतया नॉनवेज डिशेज़ जैसे कि कोरमा या निहारी के साथ खाया जाता है। ऐसा इस वजह से क्यूंकि शीरमाल का मोटी परत इन डिशेज़ की रिच ग्रेवी को बहुत अच्छे से सोख लेती है जिससे इसकी हर बाइट में गजब का स्वाद प्राप्त होता है। शीरमाल असल में ईरान में खायी जाने वाली एक प्रकार की रोटी है जो मुगल शासकों के साथ हिंदुस्तान आ पहुंची। हिंदुस्तान में आने के उपरांत ये लखनऊ, हैदराबाद एवं औरंगाबाद में बहुत लाइक की जाने लगी एवं तत्पश्चात अवधी खाने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई।
शीरमाल असल में दो वर्ड्स -‘शीर’ एवं ‘माल’ को जोड़ कर बनाया गया है जिसका अर्थ है दुग्ध से चुपड़ी अथवा मली हुई। परंपरागत रूप से इसे नान की तरह ही तंदूर में तैयार किया जाता था। लेकिन समय के साथ इसमें कुछ परिवर्तन किए गए तथा इसे पानी की जगह पर हल्के मीठे दुग्ध से गूंधा जाने लगा।

1. शीरमाल

देश-विदेश में कई प्रकार की ब्रेड्स बनायी एवं खाई जाती हैं। हमारी रोटी, नान एवं पराठा भी ब्रेड की ही भिन्न-भिन्न किस्में हैं। इस प्रकार की ही एक किस्म की रोटी है शीरमाल। ये आम रोटियों की तुलना में बहुत हेवी होती है क्योंकि इसमें मुख्यतया दूध और घी का प्रयोग होता है। इस रोटी को मुख्यतया नॉनवेज डिशेज़ जैसे कि कोरमा या निहारी के साथ खाया जाता है। ऐसा इस वजह से क्यूंकि शीरमाल का मोटी परत इन डिशेज़ की रिच ग्रेवी को बहुत अच्छे से सोख लेती है जिससे इसकी हर बाइट में गजब का स्वाद प्राप्त होता है।

शीरमाल असल में ईरान में खायी जाने वाली एक प्रकार की रोटी है जो मुगल शासकों के साथ हिंदुस्तान आ पहुंची। हिंदुस्तान में आने के उपरांत ये लखनऊ, हैदराबाद एवं औरंगाबाद में बहुत लाइक की जाने लगी एवं तत्पश्चात अवधी खाने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई। शीरमाल दो वर्ड्स -‘शीर’ एवं ‘माल’ को जोड़ कर बनाया गया है जिसका अर्थ है दूध से चुपड़ी अथवा मली हुई। परंपरागत रूप से इसे नान की तरह ही तंदूर में तैयार किया जाता था। लेकिन समय के साथ इसमें कुछ परिवर्तन किए गए तथा इसे पानी की जगह पर हल्के मीठे दुग्ध से गूंधा जाने लगा।

2. बाकरखानी

बाकरखानी रोटी ईद पर बनने वाली डिशेज में एक विशेष जगह रखती है. यह रोटी खाते समय बकरे की खाल की तरह खिचती है जिसके कारण इसे बहुत पसंद किया जाता है। बाकरखानी रोटी को साधारण रोटी से अधिक खस्ता और कुछ मोटा बनाया जाता है। इसकी बनावट इसे खाने में बेहद स्वादिष्ट बना देती है। इस रोटी को मैदा और सूजी के मिश्रण से बनाया जाता है तथा तंदूर अथवा ओवन में सेका जाता है। बाकरखानी रोटी को सूखे मेवे, काजू और किशमिश आदि से सजाकर परोसा जाता है जो इसके स्वाद और खुशबू को और भी अधिक बढ़ा देता है। इसे दूध के साथ भी सर्व किया जा सकता है। इस ईद के मौके पर आपको भी बाकरखानी रोटी बना कर अपने मेहमानो को खिलाना चाहिए और स्वयं भी इस स्वादिष्ट डिश का आनंद लेना चाहिए।

3. अंगूरदाना

अंगूरदाना उड़द की दाल से बनी हुई मोटी बूंदी है, जो मीठी और स्वादिष्ट होती है। यह एक प्रकार का पाकिस्तानी नमकीन स्नैक है जो आपके मुंह में मीठास लाता है और आपकी जीभ की प्यास बुझा देता है। इसे अक्सर अन्य व्यंजनों के साथ परोसा जाता है। रोजा-इफ्तारी में इसकी बहुत लोकप्रियता है। उड़द की दाल से बनी इस मोटी बूंदी में शक्कर और घी का उपयोग भरपूर होता है। यह न केवल दाल से, बल्कि बेसन से भी बनाई जा सकती है। इसके अतिरिक्त, इफ्तार में बेसन से बनी हुई छोटी नुक्ती भी बहुत पसंद की जाती है।

4. गाजर का गजरेला

ईद के दिन गाजर का गजरेला भी काफी लोगों के घरों में बनाया जाता है, जो लगभग गाजर के हलवे के समान ही होता है परंतु इसे अलग तरीके से बनाया जाता है। इसे खाना खाने के बाद सर्व किया जाता है, इफ्तार के आखिर में मेहमानों का मुंह मीठा करने के लिए मुख्य रूप से गाजर का गजरेला ही दिया जाता है। इसको बनाने के लिए गाजर को उसी तरह से क्रश किया जाता है जैसे गाजर का हलवा तैयार करने के लिए किया जाता है, गजरेला बनाने के लिए गाजर को कद्दूकस करके दूध, चीनी और ड्राई फ्रूट्स के साथ पकाया जाता है, जिससे यह एक अनोखी मिठाई तैयार होती है। गाजर का गजरेला एक स्वादिष्ट डिश है जो ईद की खुशियों को और भी बढ़ा देती है।

5. सिवइयां

सिवइयां एक प्रकार की फ़िरनी है जो भारतीय और पाकिस्तानी व्यंजन है। यह स्वाद में मीठी और दिखने में लच्छेदार डिश है। सिवइयां ईद और रमजान जैसे खुशी के अवसर पर खायी जाती है और इसे गर्म या ठंडे दोनों रूप में सर्व किया जा सकता है। यह गर्मी के दिनों में ठंडाई के रूप में भी पॉपुलर है। सिवइयां बनाने के लिए, सिवई नूडल्स को पानी में उबालकर गलाया जाता है और फिर उन्हें चावल और दूध के मिश्रण में पकाया जाता है। फिर चीनी और किशमिश भी इसमें मिला दिए जाते हैं जो इसे मीठा और स्वादिष्ट बनाते हैं। गर्म-गर्म सिवइयों को फ्रूट्स, नट्स और चेरी आदि से सजाया जाता है जो इसे और भी आकर्षक बना देते हैं।

6. फालसा शर्बत

फालसा शर्बत एक प्रसिद्ध और लोकप्रिय शरबत है जो ग्रीष्मकाल में ठंडक और ताजगी देता है। यह शरबत फालसा फलों से बनाया जाता है जो भारतीय उपमहाद्वीप में पाया जाते है। फालसा शर्बत को ताजा फलसे, पानी, चीनी, नींबू के रस और धनिया पत्तियों के साथ मिलाकर बनाया जाता है। यह एक ठंडा और स्वादिष्ट पेय है जो गर्मी के दिनों में ताजगी देता है और रोज़ेदारों की प्यास बुझाता है। इसका गहरा लाल रंग और इसका स्वाद इसे और भी लोकप्रिय और आकर्षक बनाते हैं।

7. फेनी

फेनी एक पाकिस्तानी मिठाई है जो ईद और अन्य खुशी के अवसरों पर तैयार की जाती है। इसे वर्मिसेली नूडल्स के रूप में भी जाना जाता है। सिवइयां और फेनी ईद पर बनने वाली मिठाई हैं जो अच्छे-अच्छों के मुंह में पानी ले आती है। सिवइयों और फेनी में एक फर्क यह है, फेनी तार के गुच्छे की तरह होती है, जिसको बनाने में अधिक मेहनत लगती है। इसको गर्म दूध या मावा के साथ पकाया जाता है। फेनी में चीनी, घी, नट्स और खुशबूदार मसालों का उपयोग किया जाता है जो इसे मीठा और स्वादिष्ट बनाते हैं। फेनी को दूध में डालकर धीरे-धीरे पकाते हैं जिससे इसकी टेक्स्चर नरम हो जाती है। फिर इसे बर्तन में गरमा-गरम निकाल लिया जाता है और ऊपर से नट्स और चेरी डालकर सजाया जाता है। फेनी एक लोकप्रिय मिठाई है जो किसी भी विशेष उत्सव के दौरान खायी जा सकती है और लोग इसे बहुत पसंद करते हैं।

8. शीर खुरमा

ईद के मौके पर शीर खुरमा या शीर कोरमा ना बने, यह तो मुमकिन नहीं है। इनके बिना ईद वास्तव में ईद जैसी नहीं रहती। शीर खुरमा एक विशेष प्रकार की सेवई है जो खास तौर पर ईद और रमजान के अवसर पर बनाई जाती है। इसे दूध और सूखे मेवों के मिश्रण से तैयार किया जाता है। साथ ही इसमें काजू, बादाम, किशमिश, खजूर और केसर जैसे मेवे डाले जाते हैं। आप घर पर इसे आसानी से बना सकते हैं। इसमें अलग-अलग स्वाद लाने के लिए आप ऊपर से केवड़ा, एसेंस या गुलाब जल डाल सकते हैं जो आपके शीर खुरमा के स्वाद और सुगंध, दोनों को बदल देगा।

तो दोस्तों ईद में बनने वाली ये अलग-अलग ईद स्पेशल डिश आपके मुंह में पानी ले आयी होंगी। तो इस ईद आप भी क्यों इन डिशेज को ट्राई करें और अपने परिवार वालों और दोस्तों को इनका स्वाद चखाएं। साथ ही हमारे इस आर्टिकल को अपने मुस्लिम मित्रों के साथ सांझा करें तथा उनके घर जाकर इन पकवानों को स्वाद लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular