Sunday, May 26, 2024
HomeHealthcareSkin Careमुंहासे के दाग हटाने के लिए घरेलू उपाय - Best Oils To...

मुंहासे के दाग हटाने के लिए घरेलू उपाय – Best Oils To Remove Acne Scars

मुंहासे के दाग आज के युवा वर्ग की एक बड़ी समस्या है। अगर आप हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने आए हैं तो ज़रूर आप मुहांसे या इस समस्या के कारण पड़ने वाले दागों से पीड़ित होंगे परंतु आप शायद यह नहीं जानते हैं कि थोड़े से प्रयोग से आप अपने चेहरे से मुहाँसे और मुहांसे के दागों को खत्म कर सकते हैं आज हम आपको इस पोस्ट में कुछ ऐसे तेलों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका प्रयोग करने के बाद आप अपने चेहरे को दाग धब्बों से मुक्त कर पाएंगे तो इस पोस्ट को पूरा ज़रूर पढ़ें।

मुंहासे के दाग हटाने के लिए तेल - Best Oils To Remove Acne Scars

मुहांसे दूर करने में सहायक तेल – Oil To Remove Acne Scar

1). कोकोनट ऑयल – Coconut Oil

कोकोनट ऑयल में Antibacterial Compound (जीवाणुरोधी यौगिक) के साथ ही Vitamin E होता है। इस कारण से कोकोनट ऑयल का प्रयोग पिम्पल हटाने के उपाय एवं इसके कारण फेस में पड़ने वाले धब्बों के इलाज के तौर पर किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त, कोकोनट ऑयल स्किन को नमी देकर मुलायम रखने के साथ ही त्वचीय संक्रमण से बचाने में भी सहायता कर सकता है

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – पिंपल दूर करने के घरेलू नुस्खे के तौर पर कोकोनट ऑयल का प्रयोग करने के लिए सर्वप्रथम इसकी कुछ ड्राप्स में थोड़ा सा हनी (शहद) मिक्स करें। फिर इसे बहुत अच्छे से फेंटकर फेस पर लगा लें। कुछ देर पश्चात फेस को गुनगुने जल से धुल लें।

2). टी ट्री ऑयल – Tea Tree Oil

Tea Tree Oil को सामान्यतः पिंपल के उपचार के लिए प्रयोग में लाया जाता है। इसका प्रयोग मुंहासों पर इसके एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण के कारण से किया जाता है। NCBI (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की इंटरनेट साइट पर प्रकाशित एक आर्टिकल में भी इसका जिक्र करा गया है। इन्हीं गुणों को देखते हुए पिंपल की मेडिसिन अर्थात क्रीम और जैल में भी Tea Tree Oil का प्रयोग किया जाता है। इस कारण से मानते है कि Tea Tree Oil को पिंपल दूर करने के घरेलू नुस्खे की भांति प्रयोग में लाया जा सकता है।

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – दो से तीन बूंद Tea Tree Oil को आधे चम्मच एलोवेरा जैल में मिक्स करके फेस पर लगा लें। थोड़ी देर पश्चात जब पेस्ट सूख जाए तो नॉर्मल वॉटर से फेस को धुल लें। प्रतिदिन दो-तीन बार इस क्रिया को दोहराया जा सकता है।

3). जोजोबा तेल – Jojoba Oil

मुंहासे हटाने के घरेलू नुस्खे के तौर पर जोजोबा तेल का लम्बे वक्त से प्रयोग होता आ रहा है। रिसर्च भी इसका समर्थन करती है कि जोजोबा तेल एक्ने के लिए लाभप्रद हो सकता है। एक रिसर्च में पाया गया कि स्किन के छोटे मुंहासों को ठीक करने में Jojoba Oil Facial Mask प्रभाव-पूर्ण हो सकता है। रिसर्च में हर हफ्ते दो-तीन बार Jojoba Oil Facial Mask लगाने वाले प्रतियोगियों के मुंहासों में कमी देखी गई है।

दरअसल, जोजोबा तेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी जैसे कई गुण होते हैं।इन्हीं के कारण से यह मुंहासों को थोड़ा कम करने में सहायता कर सकता है। अतः जोजोबा तेल को पिंपल दूर करने के घरेलू नुस्खे के रूप में एवं एक्ने के लक्षण कम करने के हर्बल उपाय के रूप में जाना जाता है।

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – जोजोबा तेल की कुछ बूंदों को कॉटन (रुई) की सहायता से फेस पर लगा लें। इसको लगाने के करीब 20 Minute पश्चात फेस को हल्के गर्म पानी से धुल लें।

4). आर्गन ऑयल – Argan Oil

आर्गन तेल का प्रयोग भी एक्ने से राहत प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है। पुराने समय से हर प्रकार के एक्ने और पिम्पल हटाने के तौर पर इसे प्रयोग में लाया जाता रहा है। शोध के अनुसार आर्गन तेल फेस के सीबम (ऑयल) को कम करके एक्ने की प्रॉब्लम खत्म करने में सहायता कर सकता है।

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – कॉटन (रुई) की सहायता से आर्गन ऑयल को सीधे अथवा दूसरे किसी तेल की बूंदों के साथ मिलाकर फेस पर लगा लें। इसके साथ कोकोनट या आलमंड ऑयल का उपयोग करा जा सकता है।

5). अरंडी का तेल – Castor oil

Castor oil अर्थात अरंडी का तेल स्किन की गन्दगी को क्लीन करने का कार्य करता है। इसके साथ ही Castor oil स्किन रिलेटिड प्रॉब्लम्स से लड़कर त्वचा को स्वस्थ एवं मुलायम बनाने का कार्य भी कर सकता है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं। इस कारण से बोला जा सकता है कि अरंडी का तेल मुंहासों से बचाव में भी सहायता कर सकता है। हालांकि, इसे लेकर किसी प्रकार का प्रत्यक्ष साक्ष्य या रिसर्च उपलब्ध नहीं है।

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – आवश्यकतानुसार अरंडी का तेल और एलोवेरा जैल मिलाकर फेस पर लगाएं। फिर ड्राई हो जाने पर स्किन को गुनगुने जल से धुल लें।

6). मछली का तेल – Fish Oil

फिश ऑयल का सेवन भी मुंहासे खत्म करने के लिए किया जाता है। इसमें सूजनरोधी गुण होते हैं, जो सूजन के कारण से होने वाले एक्ने से राहत पहुंचाता हैं। NCBI में उपलब्ध एक रिसर्च में भी इसका उल्लेख है कि प्रतिदिन मछली के तेल का सेवन 12 सप्ताह तक करने से पिंपल में सुधार हो सकता है।

इस्तेमाल किस प्रकार से करें – डॉक्टर की सलाह लेकर मछली के तेल के कैप्सूल को लिया जा सकता है।

तो दोस्तों शायद आप इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अब अपने चेहरे से मुँहासे और उसके दागों को ख़त्म कर पाएंगे। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने ऐसे मित्रों के साथ ज़रूर शेयर करें जिनके चेहरे पर मुँहासे की बहुत अधिक दाग हो या वे  मूहांसे की समस्या से अत्यधिक परेशान हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular